nishamittal

chandravilla

विश्व गुरु बने मेरा भारत

309 Posts

13192 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 2711 postid : 1012711

योजनाओं का क्रियान्वित कराईये प्रधानमंत्री जी, एक पत्र

Posted On: 14 Aug, 2016 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आदरनीय प्रधानमंत्री जी,

हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं .,

bdhaayi

हमारा देश आपके  निर्देशन,नेतृत्व में  आज़ादी के 70  वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है.देश को आपसे बहुत आशाएं हैं,आज़ादी के बाद हमारा देश जिस शिखर पर गत साढ़े छ दशक से अधिक समय में पहुँच सकता था.,दुर्भाग्य से  नहीं पहुँच सका बहुत पीछे छूट गये हम.निराशा के गहन गर्त से उबरने का प्रयास करते हुए बड़ी आशाओं,आकांक्षाओं ,विश्वास के साथ  हम भारतीयों ने कमान आपके कर्मठ हाथों में सौंपी है.आप उसको मजबूती से  सम्भालने के लिए कटिबद्ध भी हैं,.विविध जनहितकारी  योजनायें आपने प्रारम्भ भी की हैं,अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी आप हमारे भारत की पहिचान सर्वोच्च शिखर  तक  पहुंचाने  के लिए कृतसंकल्पित  हैं,सफलता भी प्राप्त कर रहे हैं.जिस निष्ठा  से आप चुनाव के महायज्ञ में आप अहर्निश परिश्रम कर रहे थे ,वो आज भी विद्यमान है आप में ,आपकी क्षमता , निष्ठा और क्षमता सराहनीय है.

परन्तु ……………………………………………………………..परन्तु…………………………………………………………………परन्तु

महोदय ,

राजनीतिक रूप से आधी अधूरी आज़ादी के परिणाम स्वरूप अंग्रेज तो हमारे देश से चले गये ,जिस स्वतंत्रता की कल्पना देशवासियों ने की थी,वो कल्पना ही बन कर रह गयी.संक्षेप में विचार करें तो स्वाधीन होने पर भी  हर पेट को रोटी का सपना भी साकार न हो सका

वर्तमान में  भी ( विविध आंकड़ों के अनुसार) 29.8 प्रतिशत भारतीय आबादी गरीबी रेखा से नीचे रहती है .गरीब की श्रेणी में उन लोगों को सम्मिलित किया जाता है, जिनकी दैनिक आय शहरों में 28.65 रुपये और गांवों में 22.24 रुपये से कम है. क्या आपको लगता है कि यह राशि हमारे  देश में एक दिन के निर्वाह  के लिए पर्याप्त , है ?  विविध कारणों से खाने की चीजों के भाव  तो आसमान छूते  हैं? अतः यह स्पष्ट है, कि गरीबी रेखा से नीचे रहने वालों की संख्या उपरोक्त आंकड़ों से बहुत ज्यादा है। सांख्यिकीय आंकड़े के अनुसार 30 रुपये प्रतिदिन कमाने वाला भी गरीब नहीं है, पर क्या वह सरलता से  जीवन यापन कर पा रहा है. क्या व्यवहार में ये सही माना जा सकता है,?भारत में गरीबों की कुल संख्या में वृद्धि हो रही  है और यह विकास के मार्ग में ये बहुत बड़ी बाधा है. गरीबी एक बीमारी की तरह है ,जिसके मित्र रोग जैसे अपराध, धीमा विकास आदि  भी जुड़े हैं . भारत में अब भी ऐसे लोग  बहुत अधिक संख्या में हैं,जो हैं जो सड़कों पर रहते हैं और एक समय के भोजन के लिए भी पूरा दिन भीख मांगते हैं. गरीब बच्चे स्कूल जाने में असमर्थ हैं और यदि जाते भी हैं तो एक साल में ही छोड़ भी देते हैं.गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने  वाले लोग अत्यंत दुष्कर जीवन जीते हुए ,गंदगी में रहने को विवश  हैं, जो कुपोषण  और बीमारियों का शिकार बनते हैं. इसके साथ  ,शिक्षा की कमी ,बेरोजगारी और भ्रष्टाचार   का यह दुष्चक्र चलता रहता है,अपराधों का ग्राफ ऊपर जाता है. स्वाभाविक सा कारण है ,मरता क्या न करता ,भूखे पेट को जो रोटी देगा ,वह व्यक्ति रोटी के लिए  देशद्रोह हो या आतंकवाद में सहयोग करना सभी कार्य करेगा .

(ये आंकडें तो बहुत ही कम हैं)इसके अतिरिक्त बिजली पानी तथा अन्य मूलभूत आवश्यकताओं से  आज भी वंछित हैं लोग.अतः हम कैसे कहें हम आर्थिक रूप से आज़ाद हैं?

आधी आबादी तो  घर -बाहर,कार्यस्थल,यात्रा करते समय  कहीं भी सुरक्षित नहीं.न जाने कब कौन दरिंदा उसका जीवन नरक बना दे.नौनिहालों का अपहरण , पीढी दर पीढी अपना जीवन  गिरवी रखे बंधुआ मजदूर,शिक्षा का गिरता स्तर . समस्याओं की सूची तो बहुत  लम्बी है,जो आप हमसे अधिक अच्छे रूप में जानते हैं.ये समस्याएं अभी नहीं जन्मी,अपितु  ,चली आ रही हैं .

मैं बस आपका ध्यान इस तथ्य की ओर आकृष्ट करना चाहती हूँ कि योजना निर्माण में तो हम अग्रणी हैं,एक से बढ़ कर एक लोक लुभावन योजनायें गत लगभग 7 दशकों में  बनती रही हैं,उनमें सुधार भी हुए, और आपने भी कल्याणकारी योजनायें लागू की  हैं,परन्तु आवश्यकता है,उनको उनके वास्तविक रूप में  क्रियान्वित करवाने की, भ्रष्टाचार दूर करने की , उनका लाभ सम्बद्ध लोगों तक पहुंचाने की,   जिससे हर उदास चेहरा खिल सके ,किसी का जीवन अभिशप्त न रहे .

आपको स्मरण होगा कि इस देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय  श्री राजीव गाँधी जी ने कहा था ,और आपने भी अपने उद्बोधन में उद्धृत किया था ,कि दिल्ली  से एक रुपया निकलता है,जो जनता तक जाते-जाते 15 पैसे हो जाता है और आपने ये आश्वासन भी दिया था कि अब केंद्र से चलने वाला पूरा 100 का 100 पैसा जनता में सम्बद्ध लोगों तक पहुंचेगा .

ये सुखद स्वप्न साकार होना तब तक असम्भव है,जब तक देश में    भ्रष्टाचार का दानव  ज़िंदा है,जो   इन योजनाओं का लाभ स्वयम निगल जाता है, अतः सारी योजनायें धरी की  धरी रह जाती हैं.नौकर शाहों ,अधिकारियों ,कर्मचारियों और यहाँ तक कि नीति निर्धारकों का बड़ा वर्ग आज भी उन योजनाओं के लाभ को स्वयम चट कर रहा है.

अतः आदरनीय प्रधानमंत्री जी  भ्रष्टाचार पर नियंत्रण करना ही प्राथमिकता बनानी होगी आपको .भ्रष्टाचार निवारण अभियान का प्रारम्भ कीजिये और उसको क्रियावित कीजिये जोर अविलम्ब ,बहुत सारी समस्याएं तो स्वतः समाप्त हो जायेंगी .

एक बहुत महत्वपूर्ण तथ्य आपके द्वारा घोषित अभियान जिससे बहुत आशाएं थी परवान नही चढ़ा ,जिसका बहुत दुःख है बहुत ही निराशा है,दोषी यद्यपि हम सब हैं,जो अपना कर्तव्य नही समझते,लेकिन कुछ नियमों के पालन में कडाई की जो आवश्यकता है ,उसका पूर्णतया अभाव है, खाली पड़े भू खंडों पर कूड़े के ढेर लगे हैं,सडकों पर गंदगी के ढेर हैं,.मेरे विचार से स्थानीय प्रशासन पर दबाब होना चाहिए और उसकी समय समय पर चेकिंग हो जिसमें स्थानीय विधायक,सांसद,प्रशासनिक अधिकारी और कुछ गणमान्य लोग सम्मिलित हों,एक निश्चित समय बाद उन अधिकारीयों को सकारात्मक रूप से प्रोत्साहित किया जाय स्वच्छता अभियान को आगे बढाने के लिए और जहाँ गंगी पायी जाय उनके लिए दंड का भी प्रावधान हो.साथ ही कूड़े के निस्तारण  के लिए कुछ ठोस कार्यप्रणाली हो,जिसको अविलम्ब लागू किया जाय

हमारे देश में एक क्षेत्र में तो पूर्णतया स्वतंत्रता आई है और वो है वाणी पर नियंत्रण का अभाव अर्थात  अनर्गल प्रलाप.किसी की जबान पर लगाम नहीं .वो अनर्गल प्रलाप चाहे देश विरोधी या व्यक्तिविशेष विरोधी ,मीडिया से लेकर हर व्यक्ति ,नेता इस स्वतंत्रता का खुले आम उपयोग करता है..उनमें हर राजनीतिक दल के लोग माहिर हैं.

मान्यवर इस अनर्गल बयान बाज़ी से देश की  बनती छवि ही धूमिल हो रही है, वाह्य शत्रुओं के हौंसलें बुलंद होते हैं.अनुशासन के मामले में  आपकी सरकार के  भी कुछ लोग कहीं अंदर ही अंदर कमजोर न कर दें आपकी सरकार की नींव .विरोधी दल आपके नियंत्रण से भले ही बाहर हों पर अपनी सरकार को तो सुधारिए,पार्टी में  लोकतंत्र का अर्थ अनर्गल प्रलाप तो नहीं.

लोकप्रिय प्रधानमंत्री जी,

माना कि गत 69 वर्षों का क्रोनिक  रोग इतना शीघ्र समूल नष्ट होना संभव नहीं परन्तु प्रयास तो बढाने होंगे,यदि हमें 2020 तक विश्व में शीर्ष पर पहुंचना है.अतः प्रयासों  की गति  में वृद्धि  कीजिये इससे पूर्व कि जनता निराशा के गर्त में पहुँच पुनः उन्ही अकर्मण्य लोगों को सत्ता सौपने को विवश हो जाए.

मेरा ये पत्र जनता की भावनाओं को आप तक पहुंचाने का प्रयास मात्र है .

पुनः पूर्ण आशा विश्वास और शुभकामनाओं सहित

सभी देशभक्त भारतीय

जागरण जंक्शन के सभी स्नेही साथियों के लिए मेरी इस ब्लॉग यात्रा का पूर्व प्रकाशित संशोधित ब्लॉग

(सभी आंकडें नेट से लिए गये हैं )

पुनः शुभकामनाएं

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (6 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

59 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

harirawat के द्वारा
August 22, 2016

निशाजी, नमस्कार ! काफी विस्तृत जानकारी दी है आपने जागरणजंक्शन के पाठकों को ! फिर भी ये तो आप भी समझती हैं और जनता भी की जो काम कांग्रेस १९४७ से कुछ दिन छोड़ कर २०१४ तक सता रही और अपने और अपने परिवार पार्टी को सुधारती रही पर रही उसका आधा हिस्सा तो मोदी जी ने जनता के लिए २ साल में कर दिखाया है ! रही भ्रश्टाचार की बात, ये भारी भरकम वट वृक्ष बन चुका है और उसकी ड़ें बहुत गहरी तक चली गयी हैं इनको उखाड़ने में समय तो लगेगा ही ! काफी विचारणीय मसलों पर सरकार का ध्यान आकर्षित किया है आपने ! साधुवाद ! कभी भूले भटके जागते रहो पर भी नजर इनायत कर दें ! हरेन्द्र

sadguruji के द्वारा
August 21, 2016

आदरणीय निशा मित्तल जी ! सादर अभिनन्दन ! कृपया आप अपने कंप्यूटर के ब्राउजर का हिस्ट्री आइकॉन क्लिककर रीसेंट हिस्ट्री को क्लियर कर दें ! मोजिला फ़ायरफ़ॉक्स ब्राउजर का प्रयोग करें, आपकी परेशानी निश्चित रूप से दूर हो जायेगी ! वैसे लिंक मैं दे रहा हूँ- http://www.jagranjunction.com/

Nirmala Singh Gaur के द्वारा
August 21, 2016

प्रशासन को तो जब तब जाग्रत करने की और आइना दिखने की जरूरत है आदरणीय निशाजी आपका ये ब्लॉग कल भी सार्थक था और आज भी सार्थक है ,हार्दिक अभिनन्दन ,सादर

kamleshmaurya के द्वारा
August 21, 2016

बहुत सुनदर आलेख,बधाई ।

    nishamittal के द्वारा
    August 21, 2016

    आपका धन्यवाद बहुत बहुत

kamleshmaurya के द्वारा
August 21, 2016

बहुत ही जायज व् महत्वपूर्ण बात रखी है आपने निशा दी ,बधाई आपको

    nishamittal के द्वारा
    August 21, 2016

    आपका आभार बहुत बहुत

Shobha के द्वारा
August 21, 2016

प्रिय निशा जी मेने बहुत कोशिश की मुझे यही लिंक मिला Link: http://nishamittal.jagranjunction.com/2013/11/17/सचिन-से-सीखिए-निरर्थक-आलो/ वैसे जागरण में तरीका बदला है और लेखकों को ग्लोरिफाई करता है जागरण जंग शन मे आपका चित्र है उसमें है f शेयर पर क्लिक कर देखें

    nishamittal के द्वारा
    August 21, 2016

    आपका हार्दिक आभार आदरणीया ,मुझको लिंक जागरण के ही एक पुराने ब्लागर मित्र ने दे दिया आपने प्रयास किया ,मैं आभारी हूँ सदा लेकिन आश्चर्य वो पेज मुझको नही मिला ,जिन मित्र ने दिया उन्होंने सीधा पोस्ट ही दे दी

Shobha के द्वारा
August 21, 2016

प्रिय निशा जी आपको बेस्ट ब्लागर से सम्मानित किया गया है आपके ब्लॉग पर शुभ कामनाएं लगातार जा रही हैं  आपका नेट शायद आपकी वजह से नहीं खुल रहा

Shobha के द्वारा
August 20, 2016

प्रिय एवं आदरणीय निशा जी आप बहुत अच्छी लेखिका है आप हर लेख बहुत मेहनत से लिखती है आपकी बेस्ट ब्लागर आफ दा वीक के लिए शुभकामनाएं मेरी तरफ से आपके हर लेख बेस्ट होते है |

sadguruji के द्वारा
August 19, 2016

आदरणीया निशा मित्तल जी ! सादर अभिनन्दन ! आपका ये लेख आज भी सामयिक और प्रासंगिक है ! सन 2019 में विजय हासिल करनी है तो मोदीजी अपने वादे पूरे करें ! साप्ताहिक सम्मान पाने की बहुत बहुत बधाई !

PAPI HARISHCHANDRA के द्वारा
August 18, 2016

आदरणीय निशा जी अभिनन्दन निराश न हों ,भाद्रपद माष की कृष्ण पक्ष की अष्टमी पर भगवन श्री कृष्णावतार होने वाला है | तम का अँधेरा छाँट जायेगा और उषा की चमकती निश्छल किरण का उदय होगा ।बंगला देश बना और वलूचिस्तान बनेगा और सर्वत्र ओम शांति शांति होते पुरुषोत्तम मोदी जी की जय जयकार होगी । और भारत अवष्य ही विष्व गुरु बनेगा ।

achyutamkeshvam के द्वारा
August 17, 2016

सामयिक एवं महत्वपूर्ण आलेख ,शुभकामनाएं

Shobha के द्वारा
August 16, 2016

प्रिय निशा जी आप सदैव बहुत स्स्र्थक और बहुत अच्छा लिखती हैं आज कल आपके लेख कम पढने को मिलते हैं आपने लेख का समापन बहुत अच्छी तरह किया |

sangeetasinghbhavna के द्वारा
August 15, 2016

बहुत ही जायज व् महत्वपूर्ण बात रखी है आपने निशा दी ,बधाई आपको

Alka के द्वारा
August 14, 2016

निशा मैम सर्वप्रथम ब्लॉगर ऑफ़ द वीक बनने के लिए बधाई| बेहद सकारात्मक एवं उत्कृष्ट रचना ..

    nishamittal के द्वारा
    August 14, 2016

    आपका हार्दिक आभार अलका जी,क्या आप उस पेज का लिंक दे सकती हैं जहाँ जागरण ने ब्लागर ऑफ़ दी वीक की सूचना दी है यहाँ ओपन नही हो रही है

gopesh के द्वारा
October 9, 2015

आपने बहुत ही वाजिब बाते कहीं हैं ,, जिस छटपटाहट के साथ जनता ने सत्ता इन्हे दी है उसके फलस्वरूप वो त्वरित लाभ एवं बदलाव चाहती है ,, हमारे प्रधानमंत्री जी अपने वादो के अनुपालन में कटिबद्ध हैं फिर भी जनता उनसे और अधिक अपेक्षा रखती है ,, आपने बहुत ही सकारात्मक तरीके से अपनी बात की है ,,,आपका बहुत आभार एवं अभिनंदन

meenakshi के द्वारा
August 28, 2015

निशा जी बेहतरीन प्रस्तुति एवम साप्ताहिक ब्लॉगर सम्मान के लिये आपको बधाई ! मीनाक्षी श्रीवास्तव

yogi sarswat के द्वारा
August 25, 2015

अतः आदरनीय प्रधानमंत्री जी भ्रष्टाचार पर नियंत्रण करना ही प्राथमिकता बनानी होगी आपको .भ्रष्टाचार निवारण अभियान का प्रारम्भ कीजिये और उसको क्रियावित कीजिये जोर अविलम्ब ,बहुत सारी समस्याएं तो स्वतः समाप्त हो जायेंगी .वाही पुराना जोरदार स्टाइल ! अपनी बात को स्पष्ट और दमदार शब्दों में तथ्यों के साथ रखना ! आदरणीय निशा जी मोदी जी एक ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो आशाओं का इतना बोझ लेकर चल रहे हैं जितना उनसे पहले शायद किसी भी प्रधानमंत्री के पास नही रहा ! जिम्मेदार व्यक्ति से उम्मीदें और ज्यादा बढ़ जाती हैं ! बहुत बहुत बधाई आपको , पुनः इस मंच पर आने और फिर से सर्वश्रेष्ठ ब्लॉगर होने के लिए !! और शुभकामनाएं !!

yogi sarswat के द्वारा
August 25, 2015

अतः आदरनीय प्रधानमंत्री जी भ्रष्टाचार पर नियंत्रण करना ही प्राथमिकता बनानी होगी आपको .भ्रष्टाचार निवारण अभियान का प्रारम्भ कीजिये और उसको क्रियावित कीजिये जोर अविलम्ब ,बहुत सारी समस्याएं तो स्वतः समाप्त हो जायेंगी .वाही पुराना जोरदार स्टाइल ! अपनी बात को स्पष्ट और दमदार शब्दों में तथ्यों के साथ रखना ! आदरणीय निशा जी मोदी जी एक ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो आशाओं का इतना बोझ लेकर चल रहे हैं जितना उनसे पहले शायद किसी भी प्रधानमंत्री के पास नही रहा ! जिम्मेदार व्यक्ति से उम्मीदें और ज्यादा बढ़ जाती हैं ! बहुत बहुत बधाई आपको , पुनः इस मंच पर आने और फिर से सर्वश्रेष्ठ ब्लॉगर होने के लिए !!

एल.एस. बिष्ट् के द्वारा
August 25, 2015

निशा जी अभिवादन व बधाई , सम्मान व इस अच्छे लेख के लिए । चीजों को बेहतर तरीके से समझा है आपने और इसीलिए लेख प्रभावशाली बन पडा है । मेरा भी मानना रहा है कि भ्र्षटाचार इस देश की सबसे बडी समस्या और बुराई है । जिस दिन देश इस रोग से मुक्त हो जायेगा उस दिन इसकी उडान देखते बनेगी । देखिए वह शुभ दिन कब आता है ।

Nirmala Singh Gaur के द्वारा
August 24, 2015

बेस्ट ब्लोगेर सम्मान की हार्दिक बधाई आदरणीय निशाजी ,आपके ब्लॉग्स होते ही उत्कृष्ट हैं .सादर .

    nishamittal के द्वारा
    August 25, 2015

    आपका हार्दिक आभार आदरनीय निर्मला जी

TUFAIL A. SIDDEQUI के द्वारा
August 23, 2015

आदरणीया निशा जी सादर अभिवादन, ३००वे ब्लॉग और साप्ताहिक सम्मान हेतु बधाई ! आपने प.म. साहब को कुरेदा तो है, उम्मीद है की प्रभाव पड़ेः….सादर…

    nishamittal के द्वारा
    August 24, 2015

    धन्यवाद सिद्दीकी जी

sadguruji के द्वारा
August 23, 2015

आदरणीया साप्ताहिक सम्मान, तीन सौ पोस्ट और तेरह हजार कमेंट, इन सबके लिए बहुत बहुत हार्दिक बधाई !

    nishamittal के द्वारा
    August 24, 2015

    आपका आभार आदरनीय.एक समय ऐसा ही था जागरण पर कमेंट्स की बहार थी एक एक अच्छी पोस्ट पर कभी कभी तो १०० से ऊपर प्रतिक्रिया रहती थी,सुधारात्मक,उत्साहवर्धक और चर्चा भी.बहुत से लोग तो बहुत विद्वान् थे जो सक्रिय थे .पुनः आभार

Shobha के द्वारा
August 22, 2015

प्रिय निशा जी मैं आपके लेख पर अपने विचार रख चुकी थी परन्तु आपका लेख बेस्ट ब्लागर आफ दा वीक पर देखा आप अब तक ३०० लेख लिख चुकी हैं मैं आप के वही लेख पढ़ पाई जब से मैं ब्लॉग का हिस्सा बनी मैं उन लोगों मैं से हूँ जिन्हें आपके लेख बेहद पसंद आते हैं आप बहुत मेहनत से तथ्यों के आधार पर अपनी बात कहती हैं बहुत मेहनत करतीं हैं ऐसे और भी लेखक हैं परन्तु कुछ लोग अब ब्लॉग में दिखाई नहीं देते मेरा अपना विचार है आपने मेहनत से लेख में अपनी बात कहीं अगर कुछ ने ही पढ़ा उन्होंने उसकी प्रशंसा की या कमी निकाली आपका उद्देश्य पूरा होगया इस लिए मैं लिखती रहती हूँ और भी जगह लिखती हूँ आपको ईश्वर स्वस्थ रखे हमारे लिए और लिखने की इच्छा दे ईश्वर से यही प्रार्थना है आप ऐसे ही हमारे लिए लिखती रहना मैदान पर डटे रहना

    nishamittal के द्वारा
    August 24, 2015

    आदरणीया शोभा जी,आपके स्नेह से अत्याधिक प्रसन्नता हुई .आप सच कह रही हैं,जागरण पर इतना अच्छा लिखने वाले लोग थे जो इस क्षेत्र में गुरु समान ही रहे हैं,जागरण एक बहुत अच्छा मंच है,जिसने बहुत सारे लोगों को आगे बढने के लिए एक सशक्त मंच प्रदान किया.आप विह्वास नहीं करेंगी एक समय ऐसा था जब पोस्ट्स पर १५० तक प्रतिक्रियां आती थी बहुत उत्कृष्ट विचार-विमर्श भी होता था./,एक चुनौती था उस टाइम लिखना और स्वयम को आगे बढ़ाना,खैर वो लोग तो अब नहीं आते अब आप सदृश अच्छा लिखने वाले मंच पर हैं.                   मैं आपके तथ्यों से पूर्ण ब्लाग्स हमेशा पढ़ती हूँ कमेंट्स क्योँ नहीं पहुँच पाते कह नहीं सकती

Ram Vilas Gupta के द्वारा
August 22, 2015

इतना सुन्दर लेख लिखने के लिए साधुवाद

    nishamittal के द्वारा
    August 24, 2015

    आपका आभार

Surabhi Lakhawat के द्वारा
August 22, 2015

आदरणीय निशा जी, आपको ‘blogger of the week’ बनने के लिये बहुत बहुत बधाई मै एक छात्रा हु, और आप एक बहुत अच्छी लेखिका है. आप्ने 300 post किये है, और मैने सिर्फ एक. मुझे खुशी होगी यदि आप थोडा सा वक़्त निकाल कर मेरा post पढेगी. मै आपको अपना लेख दिखाना चाहती हु. मै link share कर रही हु http://surbhilakhawat.jagranjunction.com/2015/05/31/god-ishwar-allah/comment-page-1/#comment-287803

    nishamittal के द्वारा
    August 24, 2015

    अवश्य देखती हूँ ब्लॉग आपका मेरी हार्दिक शुभकामनाएं

advpuneet के द्वारा
August 22, 2015

आदरणीया निशा मित्तल जी ! आपने क्या कुछ नहीं लिखा है इस लेख में…शिकायत, प्रशंशा और उत्साहवर्धन भी है.. और साथ ही साथ उन्हें सुधारने के लिए दिशा सब कुछ तो है..बहुत ही अच्छा लेख है…पढ़ कर बहुत कुछ सीखने को मिल गया…आशा करता हूँ प्रधानमंत्री जी तक आपकी बात अवश्य पहुँच गई होगी..! इस सार्थक प्रस्तुति के लिए धन्यवाद.

    nishamittal के द्वारा
    August 24, 2015

    धन्यवाद पुनीत जी

alkargupta1 के द्वारा
August 22, 2015

निशा जी , कई कोशिशों के बाद आज मैं पुनः अपना कॉमेंट देने का प्रयत्न कर रही हूँ …. सर्व प्रथम तो आपको सप्ताह के सर्व श्रेष्ठ ब्लॉगर के सम्मान प्राप्ति व ३००वे ब्लॉग हेतु आपको हार्दिक बधाई प्रधानमंत्री के पत्र के रूप मैं यह ब्लॉग प्रशासन व जनता के लिए अति उपयोगी व महत्त्वपूर्ण है आपकी सशक्त लेखनी द्वारा लिखे गए सारगर्भित आलेख हेतु आभार

    nishamittal के द्वारा
    August 25, 2015

    आभार अलका जी,साथ ही आभारी हूँ जागरण जंक्शन के प्रति जिसके सौजन्य से आप जैसी दोस्त मिली.सौभाग्य से हम इस यात्रा पर साथ ही चले थे और साथ साथ चल रहे हैं ईश्वर करे बना रहे साथ,आपका स्नेह

Anil Saxena के द्वारा
August 22, 2015

अति सुन्दर आपने अपनी भावनाओं को सुंदर ढंग से ब्यक्त किया है

    nishamittal के द्वारा
    August 25, 2015

    धन्यवाद आपका

mithilesh2020 के द्वारा
August 22, 2015

इस उपलब्धि के लिए ढेरों बधाई … योजनाओं का इम्प्लीमेंटेशन ही मोदीजी की असल चुनौती है…

    nishamittal के द्वारा
    August 25, 2015

    पूरी ईमानदारी के साथ योजनाओं का क्रियान्वयन ही देश को पूर्ण विकास की राह दिखायेगा धन्यवाद आपका

jlsingh के द्वारा
August 22, 2015

साप्ताहिक सम्मान हेतु बधाई!

    nishamittal के द्वारा
    August 25, 2015

    हार्दिक धन्यवाद सिंह साहब

Shobha के द्वारा
August 22, 2015

निशा जी बहुत तथ्यात्मक एवं सच्चाई के पास लेख आज कल लेख भी बड़ी मुश्किल से मिलते है रीडर ब्लॉग में ऐड भरे रहते हैं आपके लेखों का मुझे इंतजार रहता है

    nishamittal के द्वारा
    August 25, 2015

    आपके स्नेह के लिए ह्रदय से आभार

yamunapathak के द्वारा
August 19, 2015

आदरणीय निशा जी हार्दिक बधाई ३०० वां ब्लॉग अत्युत्तम है साभार

    nishamittal के द्वारा
    August 20, 2015

    यमुना जी 13000वे कमेन्ट हेतु धन्यवाद बड़े आश्चर्य का विषय है मेरे डेशबोर्ड पर ये आंकडा 13279का है पर यहाँ ठीक न हो सके

jlsingh के द्वारा
August 18, 2015

आदरणीया निशा महोदया, सादर अभिवादन! सर्वप्रथम आपके तीन सौवें ब्लॉग के लिए हार्दिक अभिनंदन! पुराने ब्लोग्गर्स में से आप ही हैं जो लगातार अपना विचार रखती हैं. अन्यथा अभी जो इस मंच की ब्यवस्था है वह अत्यंत ही सोचनीय है. जे जे एक मर्यादित मंच है पर आजकल इसका प्रबंधन और तकनीकी वर्ग शायद ठीक से मैनेज नहीं कर पा रहा है. फिर भी हम सभी क्रियाशील हैं अपने विचारों को जन जन तक पहुचाने के लिए. आपका यह ब्लॉग सार गर्भित है और प्रधान मंत्री के नाम एक पत्र भी है. मोदी जी से देश को बहुत आशाएं हैं. अगर वे सक्षम न हुए तो आज कोई तीसरा विकल्प नहीं दीख रहा है. उम्मीद है वे अपने प्रयासों में सफल हों, भ्र्ष्टाचार पर लगाम लगे … डायरेक्ट कॅश बेनिफिट से कुछ हद तह यह सम्भव हुआ है. फिर भी काम पढ़े लिखे लोगों को बरगलाकर उनसे रुपये ऐंठने वाली खबरें भी उत्तर प्रदेश से ही आती रहती हैं. अभी बहुत सुधर करना बाकी है. शिक्षा का पोरर्न प्रचार-प्रसार करना है और कानून ब्यवस्था का राज कायम करना है. महिलाओं पर अत्यचार तो हो ही रहे हैं दिन दहाड़े लूट और हत्या की घटनाओं में भी कहीं कोई कमी नहीं दीखती. आम नागरिक भी जागरूक नहीं हो रहा. जुल्म को देखता हुआ भी सर नहीं उठता. बाकी आप सब समझती है. आपका पुन: अभिनंदन ! आप आगे भी बेहतरीन विचार प्रस्तुत करती रहेंगी इसी आशा के साथ…

    nishamittal के द्वारा
    August 19, 2015

    अव्यवस्थाओं और सुनवाई न होने से सहमत हूँ यही कारण है कि सभी विधाओं में निष्णात इतना सुंदर लिखने वाले अब मंच पर नहीं.क्या समय था एक एक पोस्ट पर १०० से भी ऊपर कमेन्ट पहुँच जाते थे कभी कभी .इतने सुंदर मंच पर उन सभी लोगों की अनुपस्थिति खलती है.खैर सुंदर सार्थक प्रतिक्रिया के लिए आभारी हूँ.माना कि इतनी अधिक समय से व्याप्त अव्यवस्थाएं एक सवा वर्ष में दूर तो नहीं हो सकती ,परन्तु प्रयासों को युद्ध स्तर पर लागू किया जाना जरुरी है ,तभी देश आगे बढेगा ,सभी की पोस्ट्स पर कमेन्ट दिए लेकिन नहीं गये ,मेरी पोस्ट पर 300 वा ब्लॉग होने के कारण कुछ पुराने ब्लागर साथी प्रतिक्रिया नहीं दे सके .

sadguruji के द्वारा
August 18, 2015

आदरणीया निशा मित्तल जी ! सादर अभिनन्दन ! कुछ दिन पहले उपरोक्त कमेंट को पोस्ट करने की कईबार कोशिश किया, पर पोस्ट नहीं हुआ ! मैंने इसे ड्राफ्ट के रूप में सेव किया ! आज आदरणीय विष्ट जी का कमेंट मंच पर प्रकाशित देखा तो फिर से भेजने की कोशिश कर रहा हूँ ! शायद अब आप तक पहुँच जाये ! अब किसी भी पोस्ट पर प्रतिक्रिया देना और ब्लॉगर मित्रों से संवाद कायम रखना बहुत मुश्किल हो गया है ! किस दिन कमेंट जाएगा, नहीं जाएगा, यह भी पता नहीं ! यदि यही हाल रहा तो इस मंच पर ब्लॉग लेखन एक ओपचारिकता मात्र रह जाएगा ! सादर आभार !

    nishamittal के द्वारा
    August 18, 2015

    आभार आदरणीय महोदय, ये एक गंभीर समस्या है मेरे बहुत से पुराने ब्लागर मित्रों ने भी बताया की ३०० वी पोस्ट होने के कारण वो कमेंट देना चाह रहे थे पर कमेंट नहीं हुआ .आभारी हूँ आपके भगीरथ प्रयासों के लिए ,मेरा कमेंट भी किसी पोस्ट पर नहीं जा रहा है .

sadguruji के द्वारा
August 18, 2015

आदरणीया निशा मित्तल जी ! सबसे पहले तो ३०० सार्थक, विचारणीय और पठनीय ब्लॉग मंच पर प्रस्तुत करने के लिए आपका बहुत बहुत अभिनन्दन और हार्दिक बधाई ! ये सभी ब्लॉग मंच के लिए, देश के लिए और हम सब के लिए बहुत महत्वपूर्ण और उपयोगी हैं ! आपकी उपस्थिति हम सभी ब्लॉगरों को प्रोत्साहित और गौरवान्वित करती है ! इस पोस्ट में आपने बिलकुल सही कहा है कि योजनाओं की घोषणा होती है, देर-सबेर लागू भी होतीं हैं, पर ठीक से वास्तविक रूप में क्रियान्वित नहीं हो पाती हैं ! मोदीजी यदि ६७ सालों की इस कमी को दूर कर सके तो वो निसंदेह अबतक के सबसे बेहतरीन प्रधानमंत्री कहलायेंगे ! आज लाल किले पर सबकुछ अच्छा था, परन्तु न्यूज चैनलों पर ‘वन रैंक वन पेंशन’ के लिए पूर्व सैनिकों को प्रदर्शन और नारेबाजी करते हुए देखना बहुत दुखद और क्षुब्ध करने वाला था ! पिछले १५ अगस्त को आपने ‘वन रैंक वन पेंशन’ देने की घोषणा की थी और आज तक लागू नहीं कर पाये ! अभी तक आप सैनिक संगठनों से बातचीत ही कर रहे हैं ! इस मसले को हल कर आपको ये बताना चाहिए था कि आप पिछले प्रधानमंत्रियों से अलग हैं ! काले धन की उगाही आप अपने ही देश में ठीक से नहीं कर पा रहे हैं तो विदेशों से क्या करेंगे ! सार्थक और विचारणीय पोस्ट प्रस्तुत करने हेतु सादर आभार ! शुभेक्षा और शुभकामनाओं सहित !

    nishamittal के द्वारा
    August 18, 2015

    आदरणीय ,आपके विचारपूर्ण कमेंट और सहमति हेतु आभार .मैं भी रोज प्रयास कर रही हूँ कमेंट नहीं जा रहा है

rameshagarwal के द्वारा
August 15, 2015

जय श्री राम निशाजी बहुत सारगर्भित लेख लिखा.कांग्रेस ने जो गन्दगी ६७ सालो में की है उसको दूर करने में देर लगेगी अब मोदीजी को बदनाम करने के लिए संसद ठप्प कर रहे.कुछ मीडिया तो मोदीजी पर हमले करने के लिए तैयार रहते है.आज कल राजनातिक भाषा बहुत ख़राब हो गयी हमें वेस्ट और अमेरिका से राजनातिक नैतिकता सीखनी चाइये.अफ़सोस हुआ जब आतंकवादी याकूब की फांसी के विरोध में इतने लोग आए.विश्वाश रखिये मोदीजी कुछ अच्छा करेंगे लेकिन देशवाशियो का भी कर्त्तव्य है.३०० पुरे करने के लिए बधाई इस फोरम को भी टीक करवाने में मदद करे आप तो प्रबंधन में है.

    nishamittal के द्वारा
    August 15, 2015

    आपको शायद कुछ भ्रम है मैं प्रबन्धन में नहीं एक सामान्य ब्लागर हूँ,आपकी प्रतिक्रिया हेतु आभार.मुझको पूरा विश्वास है कि मोदी जी कुछ करेंगें परन्तु मेरा कथन मात्र इतना है कि योजनाओं को लागू किया जाय जोर शोर से और भ्रष्टाचार को मिटाना प्राथमिकता हो .क्योंकि भ्रष्टाचार के रहते कुछ सुखद परिणाम नहीं आ सकता

Nirmala Singh Gaur के द्वारा
August 14, 2015

300 वे ब्लॉग के लिए हार्दिक बधाई आदरणीय निशाजी ,आपकी सतर्क लेखनी जीवंत मुद्दों पर यूँ ही आवाज़ उठती रहे और प्रशासन को झकझोरती रहे ,अनेक शुभ कामनाएं .

    nishamittal के द्वारा
    August 14, 2015

    आभार आदरणीया निर्मला जी,सभी स्नेही साथियों के प्रोत्साहन से ये यात्रा इस पड़ाव तक पहुँच सकी ,जिसके लिए मै जागरण जंक्शन तथा मित्रों के प्रति सदैव आभारी रहूंगी .


topic of the week



latest from jagran